|

मनोज बाजपेयी ने बॉलीवुड और साऊथ की फिल्मो को लेकर दिया, हैरान करदेने वाला बयान!!

बॉलीवुड के बेहतरीन ऐक्टरों में से एक मनोज बाजपेयी ने कई सुपरहिट फिल्मे दी है। मनोज बाजपेयी की फिल्मे भले ही बॉक्स ऑफिस पर करोडो में ना खेलती हो। लेकिन उन्होंने अपने बेहतरीन किरदारों से लोगो के दिल में अपनी एक छाप ज़रूर छोड़ी है। आज मनोज बाजपेयी काफी चर्चे में बने हुवे है। बॉलीवुड के टेलेंटेड एक्टर मनोज बाजपेयी ने बॉलीवुड के ऐक्टर्स और डायरेक्टर्स की पोल खोलकर रख दी है। मनोज वाजपेयी ने बताया है कि कैसे साउथ फिल्मों की धुआंधार सफलता से यह लोग कांप उठे है। हिंदी बेल्ट में साउथ फिल्मों ने इस वक्त जलवा मचा रखा है। बॉलीवुड बनाम साउथ की भयानक लड़ाई शुरू हो गई है। इस मामले में कई साउथ और बॉलीवुड अभिनेता अपनी-अपनी राय पेश कर चूके हैं। वहीं अब इस मु्द्दे पर मनोज बाजपेयी ने सबसे हैरान कर देने वाला बयान दिया है।

मनोज बाजपेयी ने बॉलीवुड और साऊथ की फिल्मो को लेकर दिया, हैरान करदेने वाला बयान!!
मनोज बाजपेयी ने बॉलीवुड और साऊथ की फिल्मो को लेकर दिया, हैरान करदेने वाला बयान!!

मनोज बाजपेयी ने कहा साउथ की आंधी में बॉलीवुड के बड़े प्रोडूसर गये है कांप..

दरअसल मनोज वाजपेयी ने एक इंटरव्यू में कहा कि केजीएफ, चैपटर टू, आर आर आर और पुष्पा जैसी फिल्मों की सफलता से बॉलीवुड फिल्मों के प्रोड्यूसर अंदर तक कांप गए हैं। कोरोना के बाद अल्लु अर्जुन की तेलुगु फ़िल्म पुश्पा ध राइज ने हिंदी बेल्ट में साउथ फिल्मों के वर्चस्व की शुरुआत की। पुष्पा ने सिर्फ अपनी हिंदी डब्ब से ही ₹106 करोड़ की कमाई की और बाकी जगह से तो इसने ₹400 करोड़ से भी ज्यादा कमा डाले। उसके बाद आरआरआर ने तहलका मचाया और सारे हिंदी वाले दर्शक अपनी तरफ खींच ले गई और सिर्फ हिंदी वालों से ही उसने 250 करोड़ कमा डाले। रही बची कसर केजीएफ चैपटर टू ने पूरी की और हिंदी दर्शकों से ₹350 करोड़ कमा डाले। और पूरी कमाई में दोनों फ़िल्में तो 1000 करोड़ का आंकड़ा पार कर चुकी है और लगातार अब भी कमाई कर रही है।

vachanbaddh news
मनोज बाजपेयी ने कहा साउथ की आंधी में बॉलीवुड के बड़े प्रोडूसर गये है कांप..
मनोज बाजपेयी ने कहा साउथ की आंधी में बॉलीवुड के बड़े प्रोडूसर गये है कांप..

क्यों साउथ की फिल्मो ने मुंबई की फिल्म इंडस्ट्री को रख दिया है डराके !

अमर उजाला की रिपोर्ट के मुताबिक, इन फिल्मों की सफलता के बारे में बात करते हुए मनोज वाजपेयी ने कहा, मेरे जैसे लोगों के बारे में 1 मिनट के लिए भूल जाइए। साउथ की फिल्मों ने तो मुंबई फ़िल्म इंडस्ट्री के मेन स्ट्रीम फिल्ममेकर्स तक को डरा दिया है। वो वास्तव में नहीं जानते कि आप उन्हें क्या करना है। मनोज वाजपेयी ने एकदम 100 आने सच बात कही है। क्योंकि इन फिल्मों के आगे तो 83, जर्सी, बच्चन पाण्डे, गंगूबाई और न जाने कितनी बॉलीवुड फ़िल्में पानी मांग गई है। अब बॉलीवुड को समझ नहीं आ रहा कि वो ऐसा क्या बना दें कि लोग उनकी फ़िल्में देखने चले आए।

Also Read: Runway 34 Honest Review: अजय देवगन की फिल्म कहा मार खा गई ?

Share
vachanbaddh news

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *