9 शक्तिशाली माँ काली को बुलाने का मंत्र अर्थ सहित – Kaali Mantra in Hindi

Share करें
9 शक्तिशाली माँ काली को बुलाने का मंत्र अर्थ सहित
9 शक्तिशाली माँ काली को बुलाने का मंत्र अर्थ सहित

9 शक्तिशाली माँ काली को बुलाने का मंत्र अर्थ सहित – Kaali Mantra in Hindi

तांत्रिकों के अनुसार माँ काली को बुलाने का मंत्र का जाप करने से व्यक्ति के जीवन के सभी संकट, कष्ट तुरंत दूर हो जाते हैं।

मां कालिका का स्वरूप भक्तों के लिए भयावह से अधिक मनोरम और रमणीय भी है। सन्यासी और तांत्रिक आमतौर पर मां काली की पूजा करते हैं।

ऐसा माना जाता है, कि मां काली काल को पार कर मोक्ष प्रदान करती है।

आद्यशक्ति होने के कारण वह अपने भक्त की हर मनोकामना पूरी करती हैं। तांत्रिकों और ज्योतिषियों के अनुसार मां काली के कुछ ऐसे मंत्र हैं, जिनका प्रयोग एक साधारण व्यक्ति अपने दैनिक जीवन में अपने संकट को दूर करने के लिए कर सकता है। तो आइये जानते है, की माँ काली को बुलाने का मंत्र कौन कौन से है।

शाकम्भरी देवी के 3 शक्तिपीठ | Shakambhari Temple History in Hindi

1. शक्तिशाली मां काली बीज मंत्र:

संस्कृत में काली बीज मंत्र

”ॐ क्रीं काली”

मंत्र का अर्थ: पूर्ण ज्ञान प्रदान करनेवाली।

तुम दिव्य एवम शुभ हो,

संपूर्ण बाधाओं और संकट, विपदा को हरनेवाली हो।

लाभ: काली मां के लिए यह मंत्र सभी नकारात्मक शक्तियों या ऊर्जाओं से बचाने में मदद करता है।

2. देवी काली मंत्र:

संस्कृत में काली मंत्र

”ॐ क्रीं कालिकायै नमः”

मंत्र का अर्थ: काली मां के लिए इस मंत्र का उपयोग काली माता के प्रतिनिधित्व के लिए किया जाता है।

लाभ: काली माता का यह मंत्र सरल है और भक्त की चेतना को शुद्ध कर देता है।

3. महा काली मंत्र:

संस्कृत में मां काली का मंत्र

”ॐ श्री महा कलिकायै नमः”

अर्थ: मैं देवी माँ काली को अपना सिर झुकाता हूँ, या मैं माँ काली को प्रणाम करता हूँ।’

लाभ: काली मां का यह का यह मंत्र देवी मां से आशीर्वाद और दिव्य ऊर्जा प्राप्त करने में मदद करता है। देवी की कृपा पाने के लिए उनके मंत्र का जाप करें।

दक्षिणेश्वर काली मंदिर का रहस्य

4. काली माता मंत्र कालिका-ये मंत्र:

संस्कृत में कालिका-यी मंत्र

”ॐ कलिं कालिका-य़ेइ नमः”

लाभ: इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि यह कितना जटिल है। काली मां का यह मंत्र सभी प्रकार की समस्याओं से सुरक्षा प्रदान करता है।

5. काली मां का पंद्रह अक्षर मंत्र:

संस्कृत में काली मां का पंद्रह अक्षर मंत्र

”ॐ हरिं श्रीं कलिं अद्य कालिका परम् एष्वरी स्वा:”

अर्थ: हे काली देवी, मेरी काली मां आनंद से भरी हैं। अपने प्रफुल्लित आनंद में आप नृत्य करते हैं, इस संसार में जो कुछ भी होता है वह आपकी ही कला, प्रेरणा से होता है। ‘

लाभ: लाभ: इस मंत्र के जाप से व्यक्ति की आध्यात्मिकता में तेजी से वृद्धि लाता है।

6. काली माँ की स्तुति के लिए मंत्र:

संस्कृत में काली मां की पूजा के लिए मंत्र

”कृन्ग कृन्ग कृन्ग हिन्ग कृन्ग दक्षिणे कलिके कृन्ग कृन्ग कृन्ग हरिनग हरिनग हुन्ग हुन्ग स्वा:”

अर्थ: इस काली माता मंत्र में तीन बीज होते हैं, क्रिम, हम और ह्रीं, और नाम ‘दक्षिणा कलिके’ और ‘स्वाहा’, जिसका अर्थ है भेंट।

लाभ: भक्त काली माँ के मंत्र का जाप करते हैं, जो संसार की रक्षक हैं, जो हमें हमारी अज्ञानता और मृत्यु के भय को दूर करती हैं।

7. काली गायत्री मंत्र:

संस्कृत में काली गायत्री मंत्र

“ॐ महा काल्यै छ विद्यामहे स्स्मसन वासिन्यै छ धीमहि तन्नो काली प्रचोदयात”

अर्थ: ‘ओ महान काली देवी, माँ काली, जो जीवन के महासागर में और दुनिया को भंग करने वाले श्मशान घाट में निवास करने वाली, हम अपनी ऊर्जा आप पर केंद्रित करते हैं, आप हमें वरदान और आशीर्वाद प्रदान करें।’

लाभ: इस मंत्र के जाप से साधक का मन दैवीय रूप से परिवर्तित हो जाता है और सांसारिक मामलों की स्थूल स्थिति से काली के शुद्ध सतर्कता के सूक्ष्म प्रकाश में चला जाता है।

8. दक्षिणा काली ध्यान मंत्र:

इसे कर्पुरदी स्तोत्रम भी कहा जाता है।

संस्कृत में काली ध्यान मंत्र

”ओम् करला-बदनम् घोरं मुक्ता-केशिम चतुर-भूरम्।

कलिकम् दक्षिणाम दिब्यम मुण्ड-माला विभुषितम्

कृपया ध्यान दें, कृपया मुझसे संपर्क करें

अभयम् बर्दान-चैबा दक्षिणा-दर्धा पनिकाम्”

अर्थ: मुख भयंकर, वह काली, बहते बालों वाली जो चतुर्भुज है। दक्षिणा कालिका दिव्य, सिरों की माला से सुशोभित है। उसके बायीं ओर कमल के हाथ, एक कटा हुआ सिर और एक तलवार वह पवित्र स्थान प्रदान करती है और दाहिने हाथ से वे आशीर्वाद देती हैं।

लाभ: इस मंत्र का जाप करने से मोह, क्रोध, वासना और अन्य बाध्यकारी भावनाओं, भावनाओं और विचारों का नाश होता है।

9. सरल काली मंत्र:

ॐ श्री महा कालिकायै नमः

यह काली माँ का सबसे सरल मंत्रो मेसे एक है।


यह भी पढ़े:

अत्यंत प्रभावशाली दुर्गा चालीसा पाठ | Durga Chalisa Lyrics

काली चौदस 2021: काली चौदस 2021 कब है, तिथि, व्रत कथा, महत्व

Maa Kali Ki Katha | महाकाली की कहानी

Mata Ke Nau Roop | नौ रूपों की कथा | मां के 9 रूपों का वर्णन | Navratri 2021

श्री दुर्गा सप्तशती पाठ कैसे करें जाने संपूर्ण जानकारी

जाने दुर्गा सप्तशती पाठ के चमत्कार | दुर्गा सप्तशती पाठ का फल