हनुमान जी ने सूर्य को निगल लिया था | Hanuman Eating Sun Story in Hindi

हनुमान जी ने सूर्य को निगल लिया था | Hanuman Eating Sun Story in Hindi

हनुमान जी ने सूर्य को निगल लिया था | Hanuman Eating Sun Story in Hindi चैत्र सुद पूनम के दिन मंगलवार को अंजना के गर्भ से भगवन शंकर ने एक वानर के रूप में अवतार लिया। अंजना और केसरी की खुशीका ठिकाना नहीं रहा। शुक्ल पक्ष के चंद्रमा की तरह, दिन-ब-दिन बढ़ते हुए बच्चे को…

हनुमान जी का जन्म कैसे हुआ – Hanumanji ka Janam

हनुमान जी का जन्म कैसे हुआ – Hanumanji ka Janam

हनुमान जी का जन्म कैसे हुआ – Hanumanji ka Janam भगवान शंकर कैलास के एक उत्कृष्ट शिखर पर भगवती सती के साथ बैठे थे। पेड़ की घनी छाँव में उनके कपूर जैसे श्वेत शरीर के ऊपर नील रंग की जटा बिखरे हुए थे। उसके हाथ में रुद्राक्ष की माला, गले में सांप और सामने नंदी था।…

जानिए(Haridwar)हरिद्वार की जानकारी तथा पौराणिक महत्व

जानिए(Haridwar)हरिद्वार की जानकारी तथा पौराणिक महत्व

जानिए हरिद्वार(Haridwar)की जानकारी तथा पौराणिक महत्व हरिद्वार (Haridwar) हरिद्वार (Haridwar) भारत के सबसे पवित्र तीर्थस्थलों में से एक है। यहां गंगाजी की  कलकल शांत धरा मानव के हर विकार को शांत करने और एकाग्रता प्रदान करने में पूरी तरह से सफल है। हरिद्वार (Haridwar) को मायापुरी भी कहा जाता है।  इस की परिधि के बारे…

श्री डाकोर तीर्थ मंदिर का इतिहास – Dakor Temple

श्री डाकोर तीर्थ मंदिर का इतिहास – Dakor Temple

श्री डाकोर तीर्थ मंदिर का इतिहास – Dakor Temple श्री डाकोर तीर्थ – Dakor यह भी पढ़ें: जानिए तीर्थ कितने प्रकार के होते हैं मंदिर क्यों जाना चाहिए | मंदिर का अर्थ | मंदिर का महत्व हिन्दू धर्म की ३ पवित्र नदिया | त्रिवेणी संगम | Holy River of India हिन्दू धर्म के १२ पवित्र…

16 घोर नरक गरुड़ पुराण के अनुसार  – Narak Garud Puran

16 घोर नरक गरुड़ पुराण के अनुसार – Narak Garud Puran

गरुड़ पुराण के अनुसार 16 घोर नरक – Narak Garud Puran मृत्यु एक अटल सत्य है ,जिसे चाहे कोई भी बदल नहीं सकता। बदलते है तो सिर्फ हमारे कर्म ,पर कर्म करने के समय यह कोई नहीं सोचता ,के यह किये जाने वाला कर्म अच्छा हे या बुरा बस मनुष्य बुरे कर्म किये जाता है।…

राम नाम सत्य है क्यों बोला जाता है? | Meaning of Ram Naam Satya Hai

राम नाम सत्य है क्यों बोला जाता है? | Meaning of Ram Naam Satya Hai

राम नाम सत्य है क्यों बोला जाता है? | Meaning of Ram Naam Satya Hai किसीकी मृत्यु के पश्चात् गरुड़ पुराण क्यों पढ़वाते है? मृत्यु के पश्चात् यमलोक की यात्रा गरुड़ पुराण अध्याय -1 जाने गरुड़ पुराण क्या है? गरुड़ पुराण की 7 महत्वपूर्ण बातें जानिए मृत्यु के बाद नरक में कौन सी सज़ाए मिलती…

गरुड़ देव जन्म कैसे हुआ | Garud dev ki janm katha
|

गरुड़ देव जन्म कैसे हुआ | Garud dev ki janm katha

गरुड़ देव जन्म कैसे हुआ | Garud dev ki janm katha ऋषि कश्यब की दो पत्निया थी ,एक का नाम विनता और दूसरी का कद्रु नाम था। एक बार ऋषि कश्यब ने पुत्रो की प्राप्ति की इच्छा हुई, और उनकी पत्नी कद्रु से पूछा की तुम्हे कितने पुत्र चाहिए, तब कद्रु ने कहा मुझे बहुत…

जानिए पद्म पुराण क्या है ? Padma Purana in Hindi

जानिए पद्म पुराण क्या है ? Padma Purana in Hindi

जानिए पद्म पुराण क्या है ? Padma Purana in Hindi पद्म पुराण अनेक प्रसिद्द धार्मिक पुराणों मेसे एक है। यह पुराण सबसे बड़े पुराण स्कन्द पुराण से छोटा है पर बाकि सारे पुराणों मेसे सबसे बड़ा और विशाल पुराण है। इसमें ५५ हज़ार श्लोक मिलते है। इसमें उपाख्यान और कथनो को ज़्यादा महत्व दिया गया…

चैत्र नवरात्रि व्रत कथा | चैत्र नवरात्रि 2021
|

चैत्र नवरात्रि व्रत कथा | चैत्र नवरात्रि 2021

चैत्र नवरात्रि व्रत कथा | चैत्र नवरात्रि 2021 शाष्त्रो के अनुसार, चैत्र नवरात्री करने का फल, अश्वमेघ यग्न के समान बताया गया है। जिसे सुनने मात्र से ही, मोक्ष का मार्ग सुलभ हो जाता है। एक बार यह कथा, ब्रह्माजी ने बृहस्पति को सुनाई थी। ब्रह्माजी ने कहा के यह चैत्र नवरात्रि व्रत कथा का…

कृष्ण की बचपन की कहानी संपूर्ण | श्री कृष्ण लीला

कृष्ण की बचपन की कहानी संपूर्ण | श्री कृष्ण लीला

कृष्ण की बचपन की कहानी | श्री कृष्ण लीला कृष्ण लीला की कहानी – कृष्ण की बचपन की कहानी श्री मद भागवत पुराण के अनुसार विष्णु के आठवें अवतार को दस अवतारों में सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है। और इन्हे सावले व्यक्ति के रूप में दर्शाया गया है। ,कहा जाता है, वह एक पैर पर…

श्री गणेशजी जन्म से जुडी 4 पौराणिक कथाए

श्री गणेशजी जन्म से जुडी 4 पौराणिक कथाए

श्री गणेशजी जन्म कथाए हिंदू धर्म में कई भगवान या देवी-देवताओं के अस्तित्व को स्वीकार किया गया है। इन देवी-देवताओं को विशिष्ट उद्देश्यों के लिए प्रकट करते हुए, गणेशजी जन्म से जुडी कई कथाए हमारे पुराणों में बताई गई है। तो चलिए श्री गणेशजी जन्म से जुडी 4 पौराणिक कथाए का अध्ययन करते है। 1….

भगवान शिव का वर्णन – Lord Shiva

भगवान शिव का वर्णन – Lord Shiva

भगवान शिव का वर्णन शिव: शिव त्रिदेवता में तीसरे शिव हैं, भगवान शिव का वर्णन शिव पुराण में जिसे महेश्वर(महान ईश्वर), महादेव (देवो के देव), शंभु, हरिहर (विष्णु के साथ संघ में), पिनाकधारी(हाथ में त्रिशूल) , मृत्युंजय (मृत्यु के विजेता) के रूप में भी जाना जाता है। वह महाकाल और भैरव के रूप में भी…