ज्योतिर्लिंग कितने हैं? Shiv Jyotirling List in Hindi

१२ ज्योतिर्लिंग के नाम, उपलिंग और स्थल
१२ ज्योतिर्लिंग के नाम, उपलिंग और स्थल

१२ ज्योतिर्लिंग के नाम, उपलिंग और स्थल

ज्योर्तिर्लिंगउपलिंगस्थान
१. सोमनाथ अंतकेश्वरसोमनाथ (पृथ्वी और समुद्र का)
संगम) सौराष्ट्र, गुजरात
२. मल्लिकार्जुन रुद्रेश्वरकुर्नूल,आंध्रप्रदेश
३. महाकालेश्वर दूधेश्वरशिप्रा के तट पर, उज्जैन, मध्य प्रदेश
४. ॐकारेश्वर कदमेश्वरनर्मदा नदी में एक द्वीप पर, मध्य प्रदेश
५. केदारेश्वर भूतेश्वरअलकनन्दा के तट पर, केदारनाथ, उत्तराखंड
६. भीमाशंकर भीमेश्वरभीमा नदी के किनारे सह्याद्री पर्वत, महाराष्ट्र
७. विश्वनाथगंगा तट स्थित, काशीक्षेत्र, वाराणसी, उत्तर प्रदेश
८. त्र्यंबकेश्वरगोदावरी तट के ऊपर, नासिक, महाराष्ट्र
९. वैद्यनाथचिता भूमि, बीड जिला, महाराष्ट्र
१०. नागेश्वर भूतेश्वरदारुकावन, द्वारका, गुजरात
११. रामेश्वर गुप्तेश्वरसेतुबंध समुद्रतट, तमिल नाडु
१२. घृष्णेश्वर व्याघेश्वरनिकट एलोरा, औरंगाबाद जिला, महाराष्ट्र
Shiv Jyotirling List in Hindi

पहला ज्योतिर्लिंग कौन सा है?

भारत का पहला ज्योतिर्लिंग सोमनाथ ज्योतिर्लिंग को कहा जाता है। यह ज्योतिर्लिंग पृथ्वी का सबसे प्राचीन और पहला ज्योतिर्लिंग माना गया है। शिव पुराण अनुसार दक्ष प्रजापति द्वारा चंद्रमा को जब श्राप मिला, तब चंद्रमा ने यही घोर तपस्या कर, श्राप से मुक्त हुवे थे।

शिव भक्त रावण रचित शिव तांडव स्तोत्र हिंदी अर्थ सहित

केदारनाथ कौन सा ज्योतिर्लिंग है?

अलकनंदा के तट पर स्थित केदारनाथ ज्योतिर्लिंग उत्तराखंड के चारधाम मे से एक स्थान है। जिसे हम छोटा चार धाम भी कहते है। जहा गंगोत्री, यमुनोत्री, बद्रीनाथ और केदारनाथ जैसे तीर्थ स्थल शामिल है।

ज्योतिर्लिंग की उत्पत्ति कैसे हुई?

कहते है, जहा-जहा ज्योतिर्लिंग बने है, वह सारी जगह पर स्वयं भगवन शंकर ने दर्शन दिए है, और यह भी कहते है, की इन १२ ज्योतिर्लिंग में महादेव स्वयं निवास करते है। इसीलिए यह १२ ज्योर्तिर्लिंगो के दर्शन का अधिक महत्व है।

महाराष्ट्र में कितने ज्योतिर्लिंग है?

महाराष्ट्र में ४ ज्योर्तिर्लिंग शामिल है। जैसे भीमाशंकर, त्र्यम्बकेश्वर, वैद्यनाथ और घृष्णेश्वर।

गुजरात में कौन सा ज्योतिर्लिंग है?

शिव पुराण अनुसार पृथ्वी का प्रथम शिवलिंग, यानि सोमनाथ ज्योर्तिर्लिंग गुजरात में स्थित है।

मध्य प्रदेश में कुल कितने ज्योतिर्लिंग स्थापित है?

मध्य प्रदेश में ओंकारेश्वर और महाकालेश्वर ज्योर्तिर्लिंग स्थित है।

द्वादश ज्योतिर्लिंग में अंतिम ज्योतिर्लिंग का नाम क्या है?

द्वादश ज्योतिर्लिंग में घृष्णेश्वर अंतिम स्थान रखता है। १२ ज्योर्तिर्लिंगो में यह सबसे अंतिम ज्योर्तिर्लिंग माना जाता है।

यह भी पढ़े:

सोमनाथ ज्योतिर्लिंग कथा | Somnath Jyotirling Story

जानिए तीर्थ कितने प्रकार के होते हैं | १२ तीर्थों के नाम

गोकर्ण में स्थित 6 प्राचीन मंदिर | Gokarna Temple History in Hindi

मल्लिकार्जुन ज्योतिर्लिंग की कथा – Mallikarjun Jyotirling in Hindi

Share

Similar Posts